Budget 2018 live updates

0
159

गुरुवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली के केंद्रीय बजट भाषण में जिन चीजों के विशेषज्ञ होंगे, उनमें से आयकर स्लैब का पुनर्गठन संभव होगा।

अगर ऐसा होता है, तो वेतन वेतनभोगी और मध्यम वर्ग व्यक्तियों के लिए अच्छा बजट हो सकता है।

भारत का आयकर स्लैब अब वर्तमान में, 2.5 लाख रुपये से 5 लाख की सबसे कम व्यक्तिगत वार्षिक आय स्लैब में भारतीय 5 फीसदी कर का भुगतान करते हैं, जबकि 1 करोड़ और उससे अधिक के उच्च आय स्लैब में आने वाले व्यक्ति 30 प्रतिशत कर का भुगतान करते हैं। ऐसे में सरकार कुछ नये नियम ला सकती है

50 लाख रुपये से 1 करोड़ रुपये की निजी वार्षिक आय वाले लोग भी अपनी आयकर की राशि का 10 फीसदी अधिभार देते हैं। अगर किसी की व्यक्तिगत आय 1 करोड़ से ज्यादा है, तो अधिभार उनके आयकर की राशि का 15 प्रतिशत है।

सभी करदाताओं, चाहे वे ब्रैकेट की परवाह किए बिना, उनके आयकर और अधिभार राशि के कुल 3 प्रतिशत का उपकर दे।

2016 में भारत में व्यक्तिगत आयकर दर औसतन 31.53 प्रतिशत रही, जो 2016 में 35.54 प्रतिशत की उच्चतम स्तर तक पहुंच गई और 2005 में रिकॉर्ड 30.00 प्रतिशत कम थी।

जबकि टैक्सिंग आय की अवधारणा अन्य देशों में काफी सामान्‍य है, कर की दर और लागू कर स्लैब देश से देश में भिन्न-भिन्न हैं।

स्लैब कैसा लग सकता है विशेषज्ञों का अनुमान है कि वित्त मंत्री आयकर स्लैब के पुनर्गठन की घोषणा कर सकते हैं और छूट सीमा को मौजूदा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर लगभग 3 लाख कर सकते हैं कर देने वाले लोगो के लिए यह एक  अच्छी योजना हो सकता है। यह कदम लोगों के हाथों अधिक पैसा छोड़ देगा।

यह भी हो सकता है है कि बजट करदाताओं को कुछ राहत प्रदान करने के लिए मानक कटौती के कुछ पुराने नियम लेकर आये पर्यवेक्षकों ने यह भी कहा है कि आयकर स्लैब के संबंध में वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष प्रोत्साहन हो सकते हैं।

सरकार की तरफ से युवाओं के लिए नोकरीयो की सोगत दी जा सकती है और सरकार माध्यम वर्ग लोगो के लिए कुछ नई योजनाओ को लॉन्च करे

एफएम ने मत्स्य पालन और पशुपालन किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड का विस्तार करने और मत्स्य पालन और जलीय कृषि, पशुपालन निधि के लिए 10,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव किया है।

सरकार ने कृषि किसानों के लिए भी मत्स्य पालन, जलीय कृषि और पशुपालन निधि के लिए 10,000 करोड़ रुपये आवंटन की घोषणा की है। यह देश में पशु पालन के स्तर में सुधार लाने के साथ-साथ चलने वाला है और बाजार में उपलब्ध मांस की गुणवत्ता में भी काफी सुधार कर सकता है।

वित्त मंत्री जेटली ने कहा कि कृषि निर्यात में 100 बिलियन अमरीकी डालर की क्षमता है और इसलिए, कृषि निर्यात के लिए 42 फूड पार्कों में कला सुविधा की स्थापना की जाएगी,

इस बजट को को पूरा देखने के लिए आपको निचे एक PDF download करनी होगी

सम्पूर्ण बजट 2018-19 PDF

SHARE
Previous articleSBI Recruitment 2018 – Apply Online for 407 Specialist Cadre Officer Posts
Next articleReet admit card 2018 download
मैं Rinku Singh , इस ब्लॉग पर मैं टेक्नोलॉजी से सम्बंधित जानकारी share करता हूँ। इस ब्लॉग को हमने उन लोगो के लिए बनाया है जो हिंदी भाषा में पढ़ना पसंद करते है। अगर आपको भी हिंदी में पढ़ना अच्छा लगता है तो हमारे साथ जुड़े रहिए हम आपके लिए हिंदी में रोज एक नई जानकारी लाते रहेंगे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here